[Best] Database क्या है? और इसका क्या फायदा है

आप लोगो ने कभी सोचा है की आप जो Internet  पर इनफार्मेशन खोजते है या फिर आप अपना कभी Gmail खोलते है तो कहा आपका पासवर्ड और इनफार्मेशन सेव होता है, जरा सोचिये करोड़ो लोग अपना इनफार्मेशन इंटरनेट पर  शेयर करते है तो वो कहा सेव होता होगा। 


इसका जवाब है डेटाबेस, जी है मै  आप लोगो को आज बताऊंगा की Database क्या है,Database क्या होता है , और Database कहा Use   होता है , साथ ही साथ Database के क्या फायदे है तो दोस्तों इस लेख को पूरा पढ़े। 

डेटा  क्या है ?(What is data in hindi)

 database समझने से पहले आप लोगो को डेटा  समझना होगा की ये Data क्या होता  है ?
किसी  भी  जानकारी या इनफार्मेशन का छोटा सा हिस्सा डेटा  कहलाता है। 
जैसे : नाम, जगह का नाम, उम्र,कार का नाम आदि। 
डेटा  किसी भी फॉर्मेट में हो सकता है। जब किसी डेटा  को प्रोसेस करते है तो वह इनफार्मेशन बन जाता है। 


डेटाबेस क्या होता है ?(what is database in hindi)

database kya hai


डेटाबेस ढेर सारे डेटा  या इनफार्मेशन का ग्रुप होता है। इन  डेटा  को डेटाबेस में सिस्टेमेटिक तरीके से रखा जाता है। जब इन  डेटा  की जरुरत पड़ती तब इससे आसानी से acess  कर सकते है। इसके लिए कई तरह के सॉफ्टवेयर आते है। जिसकी जानकारी आपको नीचे मिलेगी।

 अगर आप माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का इस्तेमाल करते होंगे तो आपने माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस में MS  Acess  देखा होगा जो माइक्रोसॉफ्ट का खुद का डेटाबेस है। 

आप सभी लोगो ने MS  Excel  का उपयोग जरूर किया होगा इसमें ढेर सारे row  और column  होते है। जिसमे आप अपना डाटा सेव करते है। 

कुछ इसी  तरह डेटाबेस में भी ढेर सारे  कॉलम और row  होते है। लेकिन मस excel  एक डेटाबेस नहीं है वो स्प्रेडशीट है। 


आप लोगो ने इंटरनेट पर कई वेबसाइट देखी होंगी उनमे से हर एक वेबसाइट डाटा को स्टोर करने के लिए डाटाबेस का उपयोग करती है। 



डेटाबेस कितने तरह का होता है ? (TYPES OF DATABASE IN HINDI)

दोस्तों डेटाबेस कई तरह का होता है पर इसमें मुख्या सिर्फ 4 है जो नीचे हम बता रहे है :

Hierarchical डेटाबेस : यह डेटाबेस एक पेड़ की तरह के स्ट्रक्चर में होता है। इसमें एक रुट होता है इस डेटाबेस में रिलेशन को पेरेंट्स और चाइल्ड की तरह दिखाया जाता है। 

इस डेटाबेस में एक पेरेंट्स के एक से ज्यादा बच्चे हो सकते है।  पर एक  चाइल्ड के सिर्फ एक पेरेंट्स होंगे।इस तरह के रिलेशन को ONE  TO  MANY  (1 :N ) रेलशन बोला जाता है। 

Network डेटाबेस : इस तरह के DB(डेटाबेस) के मॉडल में एक से अधिक पेरेंट्स होते है
इस तरंह के रिलेशन को ONE तो मेनी रिलेशन कहा जाता है

Relational डेटाबेस : इस प्रकार के डेटाबेस मॉडल में डाटा टेबल में स्टोर होते है इसमे रो और कॉलम होते है जिन्हें TUPLE और ATTRIBUTE कहा जाता है इस तरह के डेटाबेस को ACESS करना आसान होता है।   इसमे आपको SQL QUERY का इस्तेमाल करना पड़ता है। 


database kya hai



इसको रिलेशनल डेटाबेस इसलिए कहा जाता है कयूकि इसमे डेटा ROW और COLUMN में स्टोर होता है ।
इस डेटाबेस मे सभी टेबल का एक दूसरे से कुछ न कुछ संबंध जरूर होता है । अब नीचे हम बात करेंगे की sql  क्या है ?

Object oriented डेटाबेस : इस तरह के डेटाबेस मे डेटा  को ऑब्जेक्ट करे रूप मे स्टोर किया जाता है । यह दो या दो से आधिक ऑब्जेक्ट के बीच मे अलग अलग संबंध हो सकता है । इस तरह के डेटाबेस बनाने के लिए oop (object  oriented programming )की जरूरत होती है ।

SQl  क्या है ?(What is SQl in hindi)

दोस्तों अगर आपको sql  नहीं आता है तो आप डेटाबेस को इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे, इसके लिए sql  language जरूरी है।

SQl  सीखना बहुत ही आसान है, बस आपको हर दिन प्रैक्टिस करना पड़ेगा । दोस्तों sql का उपयोग DBMS (Database Managment System) मे किया जाता है। SQl  के जरिए ही आप डेटाबेस मे अपना डेटा क्रीऐट , माडफाइ , डिलीट कर सकते है ।
जिस तरह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे syntax  होता है उसी तरह इसमें भी syntax होता है ।

Dbms क्या है ?(What is DBMS in hindi)

आप जान गए होंगे कि database क्या है ? लेकिन डेटाबेस कैसे काम करता है उसके लिए आपको dbms  के बारे मे जानना होगा। दोस्तों  database मे डेटा स्टोर करने और उसको मैनेज करने के लिए dbms  सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है ।

 ये एक सॉफ्टवेयर होता है जिसके जरिए आप अपने डेटा को मैनेज और डेटा को क्रीऐट, डिलीट, मोदईफ़ीय, आदि करते है।
database kya hai


Dbms  एक इंटरफेस या एक प्लेटफॉर्म प्रवाइड करता है जिसके मदद से हम की सारे काम डेटाबेस मे कर सकते है । जैसे:
  •  database  क्रीऐट करना
  • टेबल क्रीऐट करना
  • डेटा इन्सर्ट करना
  • डेटा को अपडेट करना आदि ,
  • इसके आलवा भी की सारे काम करता है जैसे आपके डेटा को अंजान लोगों से बच्चा के रखता है ताकि कोई उसमे फेर बदल न कर सके ।


डेटाबेस सॉफ्टवेयर कौन कौन से है 

 database के ढेर सारे सॉफ्टवेयर आते है जैसे :
Mysql
Orcale
Sql Server
Postgree Sql
Simple DB

Dbms  का इतिहास(History of DBMS)

  • सबसे पहले सन 1960 मे Charles Bachman ने पहला dbms  डिजाइन किया था।
  • 1970 मे Ted Code ने Relational Model का इस्तेमाल करके। Information managment system (IMS) बनाया वो भी आईबीएम के लिए।
  •    1976 मे पीटर चायन  ने E-R  Model  बनाया जिसे Entity relationship model  बोल जाता है ।
  • 1980 मे dbms का उपयोग अधिक होने लागा जिसके वजह से SQl  standards  को ISO और ANSI द्वारा ले लिया गया ।
  • bms  और Object Oriented  को एक मे मिला दिया गया, इससे लोगों का बहुत फायदा हुआ ।
  • 1991 मे विल गेट्स की Microsoft Company  ने अपना पहला पर्सनल MS ACCESS Database  लॉन्च किया।
  • 1997 मे xml ने डेटाबेस प्रोसेसिंग के लिए आवेदन किया था ।

डेटाबेस की विशेषताए

  • Database किसी भी तरह के डेटा हो स्टोर करता है।
  •    डेटाबेस acid  प्रॉपर्टी कोFollow करता है: atomicity , consistency, isolation, durability
  • Data redundancy  को काम करता है मतलब की ये किसी भी डेटा की कॉपी नहीं बनाता है जिससे स्पेस फालतू नहीं इस्तेमाल होता है ।
  •  बैकअप और रिकवरी रखता है डेटाबेस failiure  मे ये काम आता है इससे डेटा डिलीट होने से बच जाता है।
  •  डेटा integrity और Security: कोई उनउठोरीज़ेड पार्सन आपके डेटा के साथ छेद छाड़  नहीं कर सकता है ।


Database कहा use होता है(where is database used in hindi)

डेटाबेस की जगह पर इस्तेमाल होता है कुछ खास जगहों पर जैसे :
  • ·        बैंक
  •     रैलवे रेज़र्वैशन सिस्टम
  •      एयरलाइन्स
  •      स्कूल,कॉलेज, आदि
  •       सेना मे ,
  •       किसी फैक्ट्री या कंपनी मे


Database के फायदे(Benefits of database in hindi)

दोस्तों डेटाबेस के ढेर सारे फायदे है कुछ खास मै  आपको बात रहा हूँ :

  • · database काम जगह मे ज्यादा डेटा स्टोर करता है ।
  •  database इतना डेटा सेव कर सकता है जितना आप अनुमान नहीं लगा सकते है आपकी हार्ड दिसँ भर जाएगी लेकिन डेटाबेस नहीं ।
  • किसी भी डेटा को कही  से और कभी भी देख सकते है ।
  •     डेटा को आसानी से फ़िल्टर कर सकते है ।
  •  डेटा को की तरह से सॉर्ट कर सकते है ।
  • एक साथ कई  लोग डेटा को देख सकते है ।
  • डेटाबेस मे डेटा को इम्पोर्ट और एक्सपर्ट करना आसान है
  •   डेटाबेस बेहतर सिक्युरिटी प्रवाइड करता है ।
  • डेटाबेस प्रोग्राम और डेटा को अलग रखता है।


database  के क्या disadvantages है(Disadvantages of Database in hindi)  

दोस्तों database के जीतने फायदे है उसके कुछ disadvantages  भी है :

  • ·        database मे सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का खर्चा ज्यादा हो सकता है ।
  •       DBA(Database Administrator) , ऑपरेटर , जैसे लोगों की जरूरत पड़ती है 
  •     database चलाने के लिए अच्छे कंप्युटर सिस्टम की जरूरत होती है ।
  •     databaseफ़ेल  होने पर अगर आपने बैकअप और रिकवरी नहीं बनाया है तो आपका डेटा लॉस हो सकता है ।


       हमारे अन्य पोस्ट जैसे :MySql क्या है ? यहाँ पढे 


आभार:

दोस्तों, उम्मीद करता हूँ मैंने आपके सारे सवालों के जवाब दे दिया होगा जैसे Database क्या है,database ke kya fayde hai, DBMS kya hota hai?, SQl क्या है, database कहा use  होता है, आदि , अगर आपको हमसे कोई शिकायत है या कोई सुझाओ देना चाहते है तो आप कमेन्ट मे दे सकते है ।

धन्यवाद!!!
सिद्धार्थ गौरव
  



Post a comment

0 Comments